Shayari

Motivational Shayari in Hindi

Motivational Shayari in Hindi

Motivational Shayari in Hindi

Motivational Shayari in Hindi

तेरे गिरने में तेरी हार नहीं, तू आदमी है अवतार नहीं, गिर, उठ, चल, दौड, फिर भाग, क्योंकि.. जीत संक्षिप्त है इसका कोई सार नहीं!

सूरज हर शाम को ढल ही जाता है, पतझड़ बसंत में बदल ही जाता है, मेरे मन मुसीबत में हिम्मत मत हारना समय कैसा भी हो गुज़र ही जाता है

राह संघर्ष की जो चलता है, वो ही संसार को बदलता हैं, जिसने रातों से है जंग जीती, सुबह सूर्य बनकर वही चमकता है।

रख हौंसला वो मंजर भी आयेगा, प्यासे के पास चल के समंदर भी आयेगा, थक कर ना बैठ ऐ मंज़िल के मुसाफ़िर, मंज़िल भी मिलेगी और मिलने का मज़ा भी आयेगा .

मंजिल यूँ ही नहीं मिलती राही को, जुनून सा दिल में जगाना पड़ता है, पूछा चिड़िया से कि घोसला कैसे बनता है, वो बोली कि तिनका तिनका उठाना पड़ता है.

खुल कर तारीफ़ भी किया करो, दिल खोल हँस भी दिया करो, क्यूँ बाँध के ख़ुद को रखते हो, पंछी की तरह भी जिया करो

कोशिशें की समझदार बनने की लेकिन खुशियाँ बेवकूफियों से ही मिली.

यक़ीन हो तो कोई रास्ता निकलता है, हवा की ओट भी ले कर चराग़ जलता है।

इन्हीं गम की घटाओं से खुशी का चांद निकलेगा, अंधेरी रात के पर्दों में दिन की रौशनी भी है।

ये रास्ते ले ही जाएंगे…. मंजिल तक, तू हौसला रख, कभी सुना है कि अंधेरे ने सुबह ना होने दी हो..!!

टुटी कलम और, औरो से जलन, खुद का भाग्य लिखने नहीं देती।

जिंदगी गुजारने के दो तरीके है, जो पसंद है इसे हासिल करलो या जो हासिल है इसे पसंद करलो।

मौत तो नाम से ही बदनाम है, वरना तकलीफ तो जिन्दगी ही देती है।

जिंदगी अपने दम पर जियो उधार पर नहीं।

एक ‘इच्छा’ कुछ नहीं बदलती, एक ‘निर्णय’ कुछ बदलता है, लेकिन एक ‘निश्चय’ सब कुछ बदल देता है।

Also Read :

About the author

Avatar

We use cookies in order to give you the best possible experience on our website. By continuing to use this site, you agree to our use of cookies.
Accept